Sivsena- congresh se likhit ashvasan chahti he

Sivsena- congresh se likhit ashvasan chahti he

Sivsena- congresh se likhit ashvasan chahti he


राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के विधायक अजीत पवार ने मंगलवार को कहा, शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) चिंतित हैं कि अगला मुख्यमंत्री कौन होगा,लेकिन किसान का क्या होगा वह कोई नहीं सोचता ।

शिवसेना और BJP जल्द सरक़ार बनाने के  बजाय आपस में लड़ने में व्यस्त हैं। पवार ने कहा कि वे समझते हैं कि किसानों के नुकसान का मतलब राज्य और देश का नुकसान है।

पवार ने राकांपा MLA, जितेंद्र अहवद और महाराष्ट्र कांग्रेस इकाई के अध्यक्ष बालासाहेब थोरात के साथ राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की, जहां महाराष्ट्र में भारी वर्षा के कारण राज्य के किसान परेशान हैं उसके लिए बात की ।

“Pavar ने कहा की हम राज्यपाल के पास आए हैं क्योंकि सरकार kisan के साथ खड़े होने में असफल  रही है। किसानों ने भी शिकायत की है, बीमा कंपनियां उनकी मदद नहीं कर रही हैं।

उन्होंने यह भी कहा, कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के पास पूर्ण सरकार बनाने के लिए संख्या नहीं है, फिर भी वे किसान के मुद्दे को उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

आगे बताया, बीमा कंपनियों ने पिछले साल से अब तक किसानों को भुगतान नहीं किया है।

पवार के बयान पर, कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहेब थोराट ने कहा, अगर सरकार तत्काल कार्रवाई नहीं करती तो विपक्ष को आंदोलन भी करेगी ।

तावड़े पर कटाक्ष करते हुए, विधायक जितेंद्र अहवाड़ ने कहा, तावड़े की महाराष्ट्र के राजनीतिक परिदृश्य में कोई प्रासंगिकता नहीं है और उनके कार्यों को गंभीरता से नहीं लिया जाना चाहिए।

“tavde को उनकी ही पार्टी ने टिकट से वंचित कर दिया, उनकी हरकतें अच्छी नहीं हे। उन्होंने यह देखने के लिए राजभवन का दौरा किया कि यह वास्तव में कैसा दिखता है।

बैठक के तुरंत बाद, राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने क्षतिग्रस्त फसलों के दावों के निपटान में तेजी लाने के लिए राज्य सरकार को संबंधित बीमा कंपनियों की एक आपात बैठक बुलाने का आदेश दिया।

आदेश  के बाद जल्द से जल्द काम सरु होने की सम्भावना हे | देखते  हे की क्या होता हे |
 

Post a Comment

0 Comments